Articles

क्या यीशु वास्तव में जी उठा था?

पिछले दो हज़ार वर्षों से मसीहियत की नींव यीशु के क्रूस पर मरने और पुनः जी उठने पर टिकी हुई है। आरम्भ से ही मसीहियोंं के लिए यीशु के जी

मार्ग सत्य जीवन
प्रेम प्रकाश

क्या यीशु मसीह सच में क्रूस पर मारा गया था?

पिछले दो हज़ार वर्षों से क्रूस मसीहियत का मुख्य चिन्ह रहा है। इसके बाद भी आज संसार में कुछ लोग इस बात पर संदेह करते हैं कि, ‘क्या सच में

मार्ग सत्य जीवन
मोनीष मित्रा

हमारी प्रार्थना का आधार

हमारी प्रार्थनाओं को परमेश्वर की इच्छा और सुसमाचार से प्रेरित होना चाहिए। ऐसी प्रार्थना सबसे अधिक परमेश्वर को महिमा देती है। हमने इससे पहले वाले लेख में देखा था कि

Grace Church
मोनीष मित्रा

बाइबल आधारित प्रार्थना के लिए रुकावट

मसीह जीवन में प्रार्थना का एक बड़ा महत्व है। हम सभी इस बात पर विश्वास करते हैं कि हमें हर दिन प्रार्थना करनी चाहिए और बाइबल भी यह शिक्षा देती

ठोस आनन्द
जॉन पाइपर

सबसे छोटा विश्वास

आइए हम इस वर्ष के आरम्भ में ही इस बात को पूर्णतः स्पष्ट कर लें कि इस वर्ष, यीशु में विश्वासी होने के नाते हम परमेश्वर से जो प्राप्त करेंगे,

अपनी चिन्ता के समाधान हेतु बाइबल पढ़ना सीखें

चिन्ता के विषय में शिक्षा देते हुए मैंने मत्ती 6:24-34 पर आधारित तीन अध्ययन को तैयार किया है। मेरा उद्देश्य यह समझना था कि यीशु चिन्ता पर विजय पाने में

मार्ग सत्य जीवन
अखिलेश कुमार

प्रभु की प्रार्थना का अनुकरण करना

प्रभु की प्रार्थना का अनुकरण करना (मत्ती 6:9-13) हम लोग जो यीशु मसीह पर विश्वास करते हैं प्रार्थना के जीवन में बढ़ना चाहते हैं। हमारे मसीही जीवन में प्रार्थना एक महत्वपूर्ण

मार्ग सत्य जीवन
रोहित मसीह

प्रार्थना के चार महत्वपूर्ण भाग

हम में से अधिकांश लोग प्रार्थना करना चाहते हैं, परन्तु हमारी प्रार्थनाओं में प्रायः दिशा व क्रमबद्धता की कमी पाई जाती है, क्योंकि हम भूल जाते हैं कि हम कैसे

Desiring God
जॉन पाइपर

क्षमा हुए पाप के परिणाम

मैं ऊरिय्याह (हत्या) और बतशेबा (व्यभिचार) के विरुद्ध दाऊद के पाप की कहानी और 2 शमूएल 11-12 में परमेश्वर के प्रतिउत्तर से पुनः भावविभोर हो गया था। दाऊद स्वीकार करता